Dhat rog ka ilaj karan aur lakshan in hindi | धात रोग का इलाज

0
912
Dhat rog ka ilaj in hindi, dhat, dhat ka ilaj, dhat rog, gupt rog, spermatorrhoea

धातु (धात) रोग के कारण, लक्षण और इलाज – Spermatorrhea (Dhat Rog) Causes, Symptoms and Treatment in Hindi :

मित्रों कुछ समस्याएं ऐसी होती हैं, जिनके बारे में खुलकर बात करने में शर्मिंदगी महसूस होती है। उन्हीं समस्या में से एक है, धातु या धात रोग।  Dhat rog ka ilaj karan aur lakshan in hindi | धात रोग का इलाज

यह यौन संबंधी ऐसी समस्या है, जो स्वयं के प्रति बरती गई लापरवाही के कारण होती है। इस रोग से ग्रसित होने पर आत्मविश्वास इस कदर डगमगा जाता है कि व्यक्ति की रोज़मर्रा की जिंदगी पूरी तरह से प्रभावित होने लगती है। यदि भारत की बात करें, तो यहांं इस समस्या को आम माना गया है।

Also Read : छोटे लिंग से हैं परेशान तो यह है असली समाधान

Dhat rog ka ilaj in hindi, dhat, dhat ka ilaj, dhat rog, gupt rog, spermatorrhoea

धात रोग के उपचार के लिए संपर्क करें:

Dhat rog ka ilaj in hindi, dhat, dhat ka ilaj, dhat rog, gupt rog, spermatorrhoeaडी.एन.एस. आयुर्वेदा क्लिनिक
गोलागंज, लखनऊ
9918584999, 9918536999

 

आइए हम धातु रोग को समझाने के साथ ही धातु रोग के कारण, लक्षण और बचाव से जुड़ी जानकारी देंगे। साथ ही धात रोग का इलाज और टिप्स के बारे में भी चर्चा करेंगे।

धातु रोग क्या है? | What is Spermatorrhea in Hindi :

धात व धातु रोग, जिसे अंग्रेजी में स्पर्मेटर्रिया (Spermatorrhea) कहा जाता है, यह एक तरह की यौन समस्या है। इसमें बिना किसी यौन गतिविधि या इच्छा के वीर्यपात हो जाता है। कई बार पेशाब करते समय मूत्र के साथ भी वीर्य निकल जाता है।

इस स्थिति को दो भागों में विभाजित किया गया है :

      1. इसमें सपने देखते हुए नींद में ही वीर्यपात हो जाता है (Nightfall)।
      2. इसमें बिना सपने देखे नींद में या दिन में सचेत रहते हुए वीर्यपात हो जाता है ।

धातु रोग के कारण – Causes of Spermatorrhea in Hindi :

धातु रोग यानी Spermatorrhea एक गंभीर समस्या है, जिससे बचाव के लिए धात रोग के कारण के बारे में जानना आवश्यक है। नीचे, हम धातु रोग के अनुमानित कारणों के बारे में बता रहे हैं । Dhat rog ka ilaj

      1. भावनात्मक असंतुलन
      2. अधिक यौन गतिविधि
      3. शराब का सेवन
      4. ऊर्जा की कमी
      5. ह्रदय, लिवर, व किडनी में असंतुलन
      6. दवाओं का सेवन
      7. एक्जिमा व दाद
      8. आंत में होने वाले कीड़े
      9. अधिक हस्तमैथुन

धात रोग के लक्षण | Symptoms of Spermatorrhea in Hindi | Dhat rog ka ilaj:

केवल पुरुषों को ही नहीं, बल्कि महिलाओं को भी धात या धातु रोग हो सकता है। इसके कुछ लक्षण समय के साथ गंभीर होते जाते हैं। इसके कुछ आम लक्षण हम नीचे बता रहे हैं

      1. मूड में अचानक बदलाव होना
      2. हर समय आलस महसूस होना
      3. एंहीडोनीय (Anhedonia) यानी किसी भी तरह के काम में मन न लगना
      4. एकाग्रता में कमी
      5. निराशाजनक अवसाद (उदासीन विचार, खुद को व्यर्थ समझना)
      6. नींद में कमी
      7. कम भूख लगना
      8. शारीरिक दुर्बलता
      9. घबराहट महसूस होना
      10. असमय वीर्यपात
      11. मनोरोग
      12. योनि स्राव (Vaginal Discharge)
      13. पेशाब के साथ वीर्य निकलना

Also Read : लिंग में ढीलापन, लिंग मे तनाव ना आना | Ling mein dheelepan ka karan

धातु रोग के जोखिम कारक | Risk Factors of Spermatorrhea in Hindi | Dhat rog ka ilaj :

इस तरह की समस्या या रोग की चपेट में व्यक्ति यूं ही नहीं आ जाता है। उसके पीछे कई सारे कारण छुपे हुए होते हैं। इसी तरह धातु रोग होने के पीछे भी कई कारण होते हैं। इन्हीं कुछ आम कारानो के बारे में नीचे बताया जा रहा है

      1. वीर्यपात के नुकसान से संबंधित मिथकों पर भरोसा करना
      2. कामुक साहित्य पढ़ना या चित्र देखना
      3. एडल्ट फिल्में देखना
      4. दोस्ती या प्यार में विश्वासघात
      5. कुछ अधूरी कामोत्तेजक इच्छाएं
      6. बुरी संगत
      7. चिंता करना
      8. यौन इच्छा संबंधी (Venereal) रोग
      9. यूरिनरी ट्रैक्ट इंफेक्शन (यूटीआई) के कारण
      10. अधिक भोजन करना
      11. नींद खराब होना
      12. आनुवंशिक कारक
      13. पारिवारिक माहौल
      14. अपर्याप्त आहार का सेवन
      15. महिला नसबंदी (Tubectomy)
      16. अधिक हस्तमैथुन
      17. कब्ज

धातु रोग का इलाज | Treatment of Spermatorrhea in Hindi

धातु रोग के उपचार के लिए आप स्क्रीन पर नीचे बने हुए व्हाट्स ऐप (What’s app number : 9918584999 )के बटन पर क्लिक करके सीधे चिकित्सक से परामर्श कर सकते हैं या फिर नीचे दिए गये नंबरों पर संपर्क कर सकते हैं

9918584999 , 9918536999

धात रोग के उपचार के लिए संपर्क करें:

डी.एन.एस. आयुर्वेदा क्लिनिक
गोलागंज, लखनऊ
9918584999, 9918536999

www.dnsclinic.com

Also Read :

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है, यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है, अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से ज़रूर परामर्श करें, डी.एन.एस.आयुर्वेदा इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है.

Sex clinic, Piles Clinic, Ayurvedic Clinic