जानें गठिया का इलाज हिन्दी में | Gathiya ka ilaj in hindi

0
204 views
जानें गठिया का इलाज हिन्दी में, Gathiya ka ilaj in hindi

गठिया का इलाज | कैसे होता है गठिया | Gathiya ka ilaj in hindi :

यदि आपको जोड़ों का दर्द परेशान कर रहा है, और आप अपने इस गाँठों के दर्द का इलाज ढूढ रहे हैं, तो यह पोस्ट आपके लिए पढ़ना ज़रूरी है, इस पोस्ट में हम आपको गठिया रोग का राम बाण इलाज बताएंगे। गठिया रोग या गठिया आमतौर पर घुटने और अन्य जोड़ों को प्रभावित करने वाला रोग है। इसे आर्थराइटिस (Arthritis) के नाम से भी जाना जाता है। जानें गठिया का इलाज हिन्दी में | Gathiya ka ilaj in hindi

गठिया के आयुर्वेदिक उपचार के लिए संपर्क करें:

डी. एन. एस. आयुर्वेदा क्लिनिक

गोलागंज, लखनऊ (यूपी)

मोबाइल नंबर: +91-9918584999
व्हाट्स एप नंबर: +91-9918536999

Also read: बेली फैट और बढ़ती उम्र का असर कम करें, आसान उपाय

गठिया क्या है | gathiya kya hai in hindi :

Gathiya ka ilaj

यह एक या अधिक जोड़ों की सूजन है। यह 65 और उससे अधिक उम्र के वयस्कों में आम बात है, परंतु यह सभी उम्र के लोगों को भी प्रभावित कर सकता है। गठिया कई प्रकार का होता हैं लेकिन ज्यादातर सामान्य प्रकार के गठिया निम्न हैं:

 

  1. ऑस्टियोआर्थराइटिस
  2. रुमेटीइड आर्थराइटिस
  3. एंकिलॉजिंग स्पोंडिलोसिस
  4. जुवेनाइल आर्थराइटिस
  5. गाउट आदि

संधिशोथ या रुमेटाइड आर्थराइटिस:

यह एक ऑटोइम्यून रोग है जिसमें शरीर की प्रतिरक्षा प्रणाली संयुक्त कैप्सूल के अस्तर पर हमला करती है,

ऑस्टियो आर्थराइटिस:

यह एक प्रकार की पुरानी अपक्षयी विकार है,

Also read: संतरे के फ़ायदे के साथ साथ क्या आप इसके नुकसान भी.

गठिया के लक्षण | Gathiya ke lakshan in hindi :

  • जोड़ों में दर्द का होना,
  • सूजन होना,
  • दर्द वाली जगह का लाल हो जाना ,
  • जोड़ो का अकड़ जाना,

इन सभी लक्षणों पर समय रहते यदि ध्यान ना दिया जाए तो आपको शल्य कर्म की नौबत भी आ सकती है। लेकिन यदि समय रहते अगर आप अपने जोड़ों के दर्द पर ध्यान दिया और जोड़ों के दर्द का इलाज कर लिया तो आपको अपने जोड़ों के दर्द को आसानी से ठीक कर सकते है।

Also read: Danger for children | बच्चों को चिड़चिड़ा और गुस्सैल बना रहा

गठिया का इलाज हिन्दी में | Gathiya ka ilaj in hindi :

  1. नियमित गिलोय का रस पीने से गठिया की सूजन और दर्द ठीक हो जाता है।
  2. थोड़ से देसी घी में गिलोय के रस को मिलाकर सेवन करने से गठिया रोगियों का जल्द फायदा मिलता है।
  3. एरंड के तेल के साथ दूध का सेवन करने से गठिया रोग में फायदा मिलता है।
  4. गठिया के रोगी को अपनी जीवनशैली, रहन-सहन और खानपान पर विशेष ध्यान देना होगा, तभी फायदा मिलेगा। अधिक तेल और मिर्च वाले भोजन से परहेज रखने के साथ-साथ खाने में प्रोटीन की अधिकता वाली चीजें नहीं लेनी चाहिए।
  5. खाने में हरी सब्जियां, बथुआ, मेथी, सरसों का साग, पालक, तोरई, लौकी, मूंग, परवल, अंगूर, अनार, पपीता, आदि का सेवन करने से गठिया रोगियों को आराम मिलता है।
  6. दो हरड़ को पीसकर उसका चूर्ण बनाकर नियमित रूप से गुड के साथ खाने से जल्द ही गठिया रोग से लाभ मिलता है।
  7. सर्दियों में प्रतिदिन लहसुन और अदरक का सेवन करने से गठिया रोगियों को बहुत फायदेमंद मिलता है।
  8. कुछ दिनों तक समुद्र के पानी से गठिया रोगी स्नान करें तो वह जल्द ही इस गठिया रोग से ठीक हो सकता है।
  9. प्रतिदिन दर्द और सूजन वाली जगह पर जैतून का तेल लगाएंगे तो गठिया के दर्द से छुटकारा मिल जाएगा।
  10. गठिया रोग से पीड़ित लोगों को प्रतिदिन सौंठ का सेवन करना चाहिए। ऐसा प्रतिदिन करने से गठिया का दर्द जड़ से ठीक हो जाता है।
  11. काले रंग के तिल को भूनकर उसे दूध के साथ मिलाकर गाढ़ा लेप तैयार करें और इस लेप को जोड़ों के दर्द वाली जगह पर लगाकर किसी कपड़े से बांधने से गठिया रोगियों को राहत मिलती है।

Facebook page: Click here

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here