नपुंसकता की दवा | Napunsakta ki dawa | Erectile Dysfunction Medicine

1
492 views
नपुंसकता की दवा, Napunsakta ki dawa, Erectile Dysfunction Medicine

नपुंसकता का इलाज कैसे करें | How to treat Erectile Dysfunction :

मित्रों आज कल की भागदौड़ के जीवन में इंसान अपने स्वस्थ का ख़याल अच्छे से नहीं रख पाता है और इसी कारण से कभी कभी गंभीर रोग अच्छे खासे शरीर को भी अपने चपेट में ले लेते हैं। आज के इस लेख में हम आपको नपुंसकता जैसी गंभीर बीमारी के असरदार व् घरेलू उपचार को बताने जा रहे हैं। Napunsakta ki dawa

नपुसंकता क्या है, Napunsakta kya hai in hindi, What is impotency 2

Also read : नपुंसकता के कारण | Napunsakta ke karan in hindi

मित्रों, Napunsakta ki dawa जानने से पहले ये जान लेना ज़रूरी है कि नपुंसकता है क्या और ये किस कारण से होती है, नपुंसकता पुरुष के लिंग में उत्तेजना न आना या फिर कम आना या उतेजना जल्दी आ आना और तुरंत स्खलित हो जाना नपुंसकता कहलाता है। ऐसे रोगी मानसिक तौर पर बहुत ही निराश हो जाते हैं और इस बीमारी को किसी को बताने से भी शर्माते हैं।

नपुंसकता का इलाज करने के लिए संपर्क करें:

डी.एन.एस.आयुर्वेदा क्लिनिक
गोलागंज, लखनऊ (यूपी)

व्हाट्स ऐप : +91-9918536999

नपुंसकता के मुख्य कारण | Napunsakta ke karan in hindi :

  1. हार्मोन्स की अधिकता या कमी से
  2. स्टेराइड लेने के कारण
  3. हाईब्लड प्रेशर या दिल के रोग या फिर शुगर की बीमारी के कारण
  4. किसी दुर्घटना में नस काटने या स्पाइनल कार्ड में चोट लगने के कारण
  5. ड्रग्स, शराब या अन्य नशीले पदार्थों का सेवन करने के कारण
  6. अत्यधिक हस्थ्मैथुन करने से सुक्रणुओं की कमी होने के कारण

Also read : नपुसंकता क्या है | Napunsakta kya hai in hindi

नपुंसकता के लक्षण | Napunsakta ke lakshan in hindi :

ऐसे व्यक्ति पार्टनर को छूते ही स्खलित होना या सम्बन्ध के समय लिंग में ज्यादा उत्तेजना न आ पाना या उत्तेजित होते ही जल्दी शिथिल हो जाना,

For Treatment of Impotency Contact:

DNS Ayurveda Clinic

Golaganj, Lucknow (UP)

What’s App no. +91-9918536999

नपुंसकता का उपचार / इलाज | Napunsakta ki dawa in hindi :

नुस्ख़ा नंबर 1 :
जामुन की गुठली को पीस कर पाउडर बनाकर हर रोज दूध के साथ सेवन करने से सुक्रणुओं की कमी दूर होती है।

नुस्ख़ा नंबर 2 :
शीघ्रपतन को रोकने के लिए1/2चम्मच मिश्री, 1/2 चम्मच सफ़ेद प्याज का रस, 1/2 चम्मच शहद मिलाकर प्रतिदिन सुबह शाम सेवन करें। शीघ्रपतन जल्द ही ठीक हो जाएगा।

नुस्ख़ा नंबर 3 :
25 ग्राम सफ़ेद मूसली और 10 ग्राम तुलसी के बीज को 60 पीसी मिश्री के साथ मिलकर एक शीशी में रख ले और सुबह शाम गाय के दूध के साथ सेवन करें। इससे उत्तेजना ज्यादा देर तक रहेगी।

Also read : Bawaseer ka ilaj in hindi | बवासीर का इलाज हिन्दी में

Facebook Page: Click here

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here