रेड अलर्ट, 2019 शुरू होते ही आई ख़तरे की घंटी

0
587 views

2019 शुरू होते ही डेंगू ने दी दस्‍तक:

दिल्ली में 2019 का पहला डेंगू मामला दर्ज किया गया है, भले ही इस बीमारी की रिपोर्ट ज्यादातर जुलाई और नवंबर के बीच आती हो, लेकिन नगरपालिका की रिपोर्ट के अनुसार यह अवधि दिसंबर के मध्य तक जा सकती है।

दक्षिणी दिल्ली नगर निगम (एसडीएमसी) द्वारा पिछले साल 2,798 डेंगू के मामले और चार मौतें हुई थीं। सोमवार को जारी एक रिपोर्ट के अनुसार, दक्षिण दिल्ली नगर निगम द्वारा जनवरी के आखिर में एक अकेला मामला सामने आया है।

डॉक्टरों ने लोगों को एहतियात बरतने की सलाह दी है कि अपने आस-पास मच्छरों के लार्वा का प्रजनन न होने दें और पूरी आस्तीन के कपड़े पहनें। दरअसल, हाल ही में, वेक्टर जनित रोगों की रोकथाम पर नागरिक निकायों द्वारा कार्यशाला का आयोजन किया गया था।

पिछले साल सामने आए थे डेंगू के हजारों मामले

एक रिपोर्ट के मुताबिक, पिछले साल दिसंबर में दर्ज किए गए मामलों की कुल संख्या लगभग 141 थी, नवंबर में 1,062 डेंगू के मामले थे और अक्टूबर में 1,114 थे। पिछले साल भी डेंगू के सितंबर में 374 मामले सामने आए थे। 58 अगस्‍त में, जुलाई में 19, जून में 8 और मई में 10 मामले सामने आए थे। इसके अलावा मार्च में एक, फरवरी में तीन और जनवरी में 6 लोग डेंगू शिकार हुए थे।

इसे भी पढ़ें: बिना परहेज़ किए घटायें अपना वज़न Loose weight without dieting

शेष मामले दिल्ली के तीन नगर निगमों के अधिकार क्षेत्र के बाहर से दर्ज किए गए थे। पिछले साल मलेरिया के 473 और चिकनगुनिया के 165 मामले दर्ज किए गए थे। हालांकि, इस साल मलेरिया और चिकनगुनिया का कोई मामला दर्ज नहीं किया गया है। वेक्टर जनित बीमारी के अलावा राजधानी में ठंड और वायरल बुखार भी देखे जा सकते हैं, जिससे अस्पताल में दौरे बढ़ जाते हैं।

वायरल इंफेक्‍शन के लक्षण

चिकित्‍सक के मुताबिक, एक वायरल बीमारी के शुरुआती पहचानने योग्य लक्षण अक्सर थकान और शरीर में दर्द होते हैं। सिरदर्द भी इसका लक्षण हो सकता है। कुछ मामलों में उल्टी और दस्त भी देखा जा सकता है।

इसे भी पढ़ें: अब एम्स में होगा स्पाइन और हड्डी के कैंसर का इलाज

पिछले साल डेंगू से 10 लोगों की हुई थी मौत

साउथ दिल्‍ली म्युनिसिपल कॉपोरेशन के अनुसार, पिछले साल दिल्ली में डेंगू के कारण 10 लोगों की मौत हो गई थी, जिनमें से पांच राजधानी के निवासी नहीं थे। कुल मिलाकर, पिछले साल वेक्टर जनित बीमारियों ने शहर के लगभग 9,271 लोगों को प्रभावित किया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here