धात रोग क्या है – बहोत आसान इसका इलाज – Spermatorrhoea

धातु (धात) रोग ?

धातु रोग का मतलब होता है, वीर्य का अनैच्छिक रूप से निकलना, जो आम तौर पर नींद के दौरान या अन्य परिस्थितियां जैसे पेशाब या मल त्याग के दौरान होता है।

यह एक पुरुषों की यौन समस्या है, जिसमें अनैच्छिक रूप से वीर्यपात (वीर्य रिसना या बहना) होने लगता है, जो आमतौर पर यौन उत्तेजना और संभोग के बिना होता है।

धात रोग का केवल दो महीने में इलाज करने के लिए संपर्क करें:

दवा लेने के लिए आप अपनी समस्या कॉल या वीडियो कॉल पर या फिर व्हाट्सप्प पर बता कर कूरियर द्वारा मंगा सकते हैं
यदि क्लिनिक पर आकर दवा लेना चाहते हैं तो भी आप नीचे दिए गए क्लिनिक के पते पर आकर हमारे सेक्सोलॉजिस्ट / गुप्त रोग स्पेशलिस्ट से मिलकर भी दवा ले सकते हैं

डी.एन.एस. आयुर्वेदा क्लिनिक

वजीरगंज, गोलागंज, निकट क्रिश्चियन कॉलेज, लखनऊ, उत्तर प्रदेश – 226018

डॉक्टर साहब अभी व्हाट्सप्प पर ऑनलाइन है।  अभी नीचे व्हाट्सप्प पर क्लिक करके अपनी पूरी प्रॉब्लम बताये और अपना सही इलाज पता करेंWhatsapp Us, gupt rog

Call Now, gupt rog

हमारी क्लिनिक पर निम्न समस्याओ का सफल इलाज किया जाता है :

1. शीघ्रपतन
2. मर्दाना कमज़ोरी
3. सेक्स का मन न होना
4 . लिंग का एक बार भी खड़ा न होना
5 . औरत में सेक्स की इच्छा न होना
6 . जल्दी जड़ जाना
7 . धात जाना धातु रोग
8 . लिंग से चिपचिपा पानी बहते रहना
9 . स्वप्नदोष या नाईट फॉल होना
10. हस्तमैथुन करने की लत लग जाना
व अन्य सभी बीमारियों का इलाज किया जाता है

सभी इलाज केवल 1800/- रुपए महिना मे किए जाते हैं आप चाहे तो इलाज के लिए हमारे क्लिनिक पर आ सकते हो या दवा घर बैठे मंगवा सकते हो।

नोट :

  1. हमारी दवा का कोई साइड इफ़ेक्ट नहीं होता न कोई नुकसान होता है क्योंकि दवा असली आयुर्वेदिक जड़ी बूटी से तैयार की जाती है।
  2. हमारे क्लिनिक व दवाखाने पर दवा असली व ताज़ी जड़ी बूटियों से तैयार की जाती व असली नुस्खा बनाया जाता है।
  3. दवा उम्र व समस्या के हिसाब से तैयातर करके भेजी जाती है।
  4. हमारी दवा बहुत ही बढ़िया असर करती है क्योंकि हम दवा खुद शुद्ध जड़ी बूटियों से तैयार करते है, बाकी लोगो की तरह फैक्ट्री में बनी हुई रेडीमेड दवा नही देते असली व शुद्ध जड़ी बूटी का नुस्खा तैयार करके दिया जाता है, साथ मे परहेज़ और दवा कैसे खाना है उसकी भी जानकारी दी जाती है
  5. हमारी दवाओ का कोई साइड इफ़ेक्ट नही होता है क्योंकि ये शुद्ध देशी जड़ी बूटी द्वारा तैयार की जाती है

दवा घर बैठे मंगवाने के लिए नीचे व्हाट्सप्प पर क्लिक कीजिये

Whatsapp Us, gupt rog

पूरे भारत मे हमारे दवाओं की फ्री होम डिलीवरी की सुविधा उपलब्ध है

shighrapatan medicine, shighrapatan ka ilaj, shighrapatan ki dawa , shighrapatan ka ilaj, shighrapatan rokne ki tablet, shighrapatan ki dawa baidyanath, shighrapatan ka ramban ilaj, shighrapatan ka ilaj homeopathic, shighrapatan ka ilaj kya hai, shighrapatan ka ilaj kaise kare, shighrapatan ka ilaj medicine, shighrapatan ka ilaj in homeopathy in hindi, shighrapatan ka ilaj patanjali medicine, shighrapatan ka ilaj Himalaya, shighrapatan ka ilaj sambhav hai, shighrapatan ka ilaj Wikipedia, lahsun se shighrapatan ka ilaj, haldi se shighrapatan ka ilaj, ashwagandha se shighrapatan ka ilaj, swapandosh aur shighrapatan ka ilaj, jaldi shighrapatan ka ilaj, kya shighrapatan ka ilaj sambhav hai, homeopathic me shighrapatan ka ilaj, shilajit se shighrapatan ka ilaj, shighrapatan ka ilaj patanjali, shighrapatan rokne ka ilaj, shighrapatan ko jad se khatam karne ka ilaj, shighrapatan ka homeopathic ilaj in hindi, shighrapatan ayurvedic medicine, singer patan ka ilaj, shighrapatan ka dawa, shighrapatan ka ayurvedic ilaj in hindi, shighrapatan treatment, shighrapatan ka ayurvedic ilaj hindi mein, shighrapatan ka dawai, shighrapatan kaise thik Karen, best tablet for shighrapatan, seegarh patan ka ilaj, shighrapatan ka ilaj bataen, shighrapatan ke liye kya Karen, shighrapatan ka permanent ilaj, shigrapatan upay hindi, shighrapatan ka gharelu ramban ilaj, premature ejaculation ka ilaj in hindi, sidhar patan ka ilaj, shighrapatan ki dava bataen, shighrapatan ka jad se ilaj, seeger patan ka ilaj, shighrapatan ka ilaj batao, shighrapatan ko rokne ki tablet, segher patan ka ilaj, shighrapatan ka pakka ilaj, shighrapatan ka sahi ilaj, shighrapatan ki sabse badhiya dawai, shighrapatan ka desi ramban ilaj, shighrapatan ayurvedic medicine in hindi, shighrapatan ka gharelu ilaj hindi me, shighrapatan k karan, shighrapatan ki samasya kaise dur Karen, shighrapatan ka medicine, shighrapatan ka yoga, shighrapatan medicine ayurvedic, shighrapatan se chutkara pane ke upay, shighrapatan thik karne ke upay, shighrapatan dawai, best medicine for shighrapatan in hindi, shighrapatan rokne ke liye dawai, shighrapatan ka ayurvedic dawa in hindi, shighrapatan ka angreji dawa, shighrapatan rokne ka desi ilaj, virya patan ka ilaj, shighrapatan ka treatment, shighrapatan ka safal ilaj, shighrapatan medicine in ayurveda, shighrapatan rokne ke liye kya karna chahie, shighrapatan ka ramban upay, jaldi patan ka ilaj, sidh patan ka ilaj, shighrapatan ka upay bataiye, shighrapatan ka homoeopathic dawa, shighrapatan ka gharelu ilaaj, shighrapatan ka pakka ilaj in hindi, shighrapatan ka ramban ilaj in hindi, shighrapatan bimari ka ilaj, segre patan ka ilaj, medicine for shighrapatan in hindi, sidar patan ka ilaj, segre patan ka ilaj in hindi, shighrapatan rokne ki medicine, shighrapatan ki dawai bataen, shighrapatan ki bimari ka ilaj, shighrapatan ka ayurvedic ilaj hindi me, ayurvedic treatment for shighrapatan in hindi, shighrapatan ka medical ilaj, shighrapatan ka ayurvedic treatment, shighrapatan ka dawai bataiye, shidr patan ka ilaj, shighrapatan ka upchar kya hai, shighrapatan rog ka ilaj, shighrapatan hone ki dawa, shighrapatan ka ayurvedic, shighrapatan kaise dur hoga, shighrapatan ka desi upchar, shighrapatan ka turant ilaj, shighrapatan ka achuk ilaj, shighrapatan treatment in ayurveda,

क्लिनिक पर आए या दवा डॉक्टर से बात करके घर बैठे मंगवाए

यह समस्या अक्सर रोगी के चिड़चिड़ेपन व उसके यौन अंगों में दुर्बलता से जुड़ी हुई होती है। कुछ प्रकार के मामलों में कब्ज के दौरान मल त्याग करने के लिए लगाए गए के कारण भी मूत्र के साथ वीर्य जैसा निकलने लगता है। कुछ मामलों में वीर्य मूत्र से पहले निकल जाता है, या मूत्र से मिलकर भी निकलने लग जाता है।

और पढ़ें – सावधान अगर आप रात में जागते हैं तो

धातु (धात) रोग के लक्षण – Spermatorrhoea Symptoms in Hindi

धातु रोग के  लक्षण व संकेत क्या हो सकते हैं?

धात गिरने की समस्या रोग के मुकाबले एक लक्षण ज्यादा होता है।

यदि समस्या अत्यधिक हस्तमैथुन या सेक्स के कारण होती है, तो दीर्घकालिक यौन क्रीड़ा थकान से संबंधित लक्षण दिखाई दे सकते हैं:

  1. कमर में दर्द विशेष रूप से कमर के निचले भाग में
  2. कमर के निचले भाग में दर्द जिसकी दर्द की तरंगें नीचे तक जाएँ
  3. अंडकोष या पेरिनियम में दर्द,
  4. चक्कर आना,
  5. सामान्य कमज़ोरी,
  6. रात को पसीना आना,
  7. अंडकोष क्षेत्र में पसीना आना,
  8. गर्म और नम त्वचा,
  9. गर्म और नम हथेलियां और तलवे

और पढ़ें – लिंग में तनाव की कमी

धातु (धात) रोग के कारण – Spermatorrhoea Causes in Hindi

धातु रोग के कारण और इसमें अन्य समस्याएँ क्या हैं?

धातु रोग के मुख्य कारण ये हैं:

  1. पुरूष जननांग टेस्टेस (वृषण) को बाकी शरीर के तापमान से कुछ हद तक ठंडा रखना चाहिए। जब टेस्टेस अधिक गर्मी के प्रभाव में आते हैं, (जैसे गर्म पानी के टब में नहाने के बाद) ऐसे में रात को सोने के बाद शुक्राणु निकालने लगते हैं, क्योकिं शुक्राणु की सप्लाई क्षतिग्रस्त हो जाती है।।
  2. यौन उत्तेजनाओं को प्रभावित करने वाला दृश्य या ख्याल आने पर भी इस समस्या का पैदा होना लाज़मी है।
  3. खारब आहार भी इस समस्या का एक कारण है। कम प्रोटीन युक्त आहार, या बिना अंडे वाले आहार का सेवन करना भी लाभदायक साबित हो सकता है।
  4. अत्याधिक हस्तमैथुन या सेक्स करना भी धातु रोग का कारण बन सकता है।
  5. और पढ़ें – sex ke liye sahi umr
  6. धात का रोग कमजोर पाचन तंत्र या शारीरिक कमजोरी के कारण भी हो जाता है।
  7. इसके अलावा, अधिकांश पूर्वी शहर, वेस्टर्न शौचालय (पश्चिमी प्रकार के शौचालयों) से रहित हैं। उनके शौचालय जमीन पर लगाए जाते हैं क्योंकि पुरुषों को उन पर उकड़ू बैठने (squat) की आवश्यकता पड़ती है। इस अवस्था में जब मल त्याग करने के लिए अत्याधिक जोर लगाया जाता है, तो वीर्य अपने आप निकलने लगता है। अगर वीर्य निकलने की समस्या रोजाना होने लगे तो यह एक गंभीर स्थिति हो सकती है।
  8. आदमी को अपने दैनिक मल क्रिया से पूरी तरह से पेट साफ कर सकता है।
  9. तंत्रिका तंत्र की कमजोरी।
  10. मूत्र और जननांग अंगों की क्षीणता।
  11. अत्याधिक हस्थमैथुन करने की आदत।
  12. यौन असंतोष।
  13. त्वचा आदि की समस्या के कारण वृषण कोष संबंधी समस्याएं।
  14. संकीर्ण (तंग) मूत्र निकास मार्ग।
  15. मलाशय के विकार जैसे बवासीर, एनल फिशर, कीड़े और त्वचा में फोड़े फुंसी आदि।
  16. मूत्राशय भरना।
  17. टेस्टोस्टेरोन पर आधारित दवाएं।
  18. गद्दे या कंबल के साथ संपर्क (रगड़) के कारण उत्तेजना।

धातु (धात) रोग का इलाज – Spermatorrhoea Treatment in Hindi

जानें की धातु रोग का उपचार कैसे किया जा सकता है ?

  1. सफल उपचार के लिए धातरोग की पैथोलोजी जाँच होना जरूरी होता है।
  2. एक अच्छी तरह से संतुलित, पौष्टिक आहार खाएं।
  3. शराब आदि से दूर रहें,
  4. रात के समय कम खाना खाएं,
  5. बिस्तर छोड़ने के बाद मूत्र त्याग करें।
  6. थोड़े कठोर गद्दों पर सोने की कोशिश करें।
  7. रात को सोते समय चिपके कपड़ों का इस्तेमाल ना करें।
  8. सुबह (ब्रह्म मुहूर्त में) जल्दी उठने की कोशिश करें, यह वीर्यपात की समस्या आम तौर पर सुबह के समय ही होती है।
  9. विवेकपूर्ण विचारों में ध्यान लगाने की बजाए अपनी एनर्जी तथा क्षमता को रचनात्मक और निर्माणकारी कार्यों में लाने की कोशिश करें।
  10. पेट सॉफ रखने की कोशिश करें ताकि बवासीर और अन्य गुदा संबंधी विकारों की जांच की जा सके।
  11. जननांगों को पूर्ण तरीके से सॉफ सुथरा रखें, ताकी जलन और उसके कारण होने वाले अनैच्छिक वीर्यपात की जांच की जा सके।

धातु रोग के इलाज के लिए कीगल एक्सरसाइज करें –

जब आप जान लेते हैं कि कौनसी मांसपेशी को टारगेट करना है, तब कीगल एक्सरसाइज (Kegel Exercise) करने में काफी आसान हो जाती है।  यह पेशाब के दौरान अपनी मांसपेशियों का पता लगाने के सबसे आसान तरीका है –

  1. आधा पेशाब त्याग करने के बाद बाकी के पेशाब को रोकने या धीरे-धीरे करने की कोशिश करें।
  2. अपने नितंबों, टांगों या पेट में मांसपेशियों में तनाव या खींचाव उत्पन्न ना करें, और ना ही अपनी सांसों को रोकने की कोशिश करें।
  3. जब आप अपने मूत्र की धारा को धीमा या बंद करने में सफल हो जाते हैं, तो आप उस मांसपेशी पर नियंत्रण पा लेते हैं।
  4. यदि क़ब्ज़ की समस्या हुई है तो उसका पता जल्द से जल्द लगा लिया जाना चाहिए और उसका ईलाज भी कर दिया जाना चाहिए।

कीगल व्यायाम करने के लिए –

  1. 5 तक धीरे-धीरे गिनती करें, और अपने इन मांसपेशियों को सिकोड़ें।
  2. और फिर ऐसे ही 5 गिनते हुऐ धीरे-धीरे वापस खोलें।
  3. इस प्रक्रिया को 10 बार करें।
  4. 10 बार केगल के सेट को दिन में कम से कम 10 बार करें।

और पढ़ें – माहियाओं में सेक्स इच्छा की कमी

6 Comments

  1. अमितsays:

    सर् मेरे लिंग से हमेशा लार की तरह चिपचिपा पानी निकलता है लैट्रिन के समय भी बहुत निकलता है लड़की से बात करने मे भी निकल जाता है

  2. Sir mere huby ko ye ghaat ki prblm h bht lambbe samy se h or wo bht hi duble ho gye h bht dwa khaye bht doctr dikhaya pr shi n ho rha unka sharir aadha ho gya h plz sir kuch advise btaye kaise shi hoga ye koi bhout bdi prblm to n h wo bhout chidhchidhe ho gye bht dard rehta h kamr me unke pure badn me

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

WhatsApp WhatsApp us