सेक्स को दिलचस्प बनाने के लिए टिप्स – Tips for pleasant sex

0
1145
Making sex pleasant, First time sex, Sexual Disorders, Best Ayurvedic Clinic in Lucknow, Best Ayurvedic Doctor, Best Ayurvedic Treatment, Sexologist in Lucknow
Making sex pleasant, First time sex, Sexual Disorders, Best Ayurvedic Clinic in Lucknow, Best Ayurvedic Doctor, Best Ayurvedic Treatment, Sexologist in Lucknow

सेक्स को दिलचस्प बनाने के लिए कुछ खास टिप्स-

Some Special Tips for pleasant sex-

सेक्स नाम सुनते ही दिल में कई प्रकार की घंटियां बजने लगती हैं। सेक्स सुनने में जितना प्यारा और हाॅट लगता है, इसे सही से करना उतना ही परेशानी भरा भी हो सकता है। सेक्स से जुड़ी ऐसी कई कड़िया हो सकती हैं, जिनसे आप जुड़ ही नहीं पा रहे हों। कई लोगों को यह समझ नहीं होती कि आखिर सेक्स करने का सही तरीका क्या होना चाहिए और इसी वजह से सेक्स से जुड़े कई प्रश्न उनके दिमाग में घूमते रहते हैं। इसी प्रकार के सेक्स से संबंधित प्रश्नों का हल लेकर हम आपके सामने स्पेट बाय स्टेप चलेंगे… Tips for pleasant sex

Also read: पहली बार सेक्स, तो याद रखें ये 11 जरूरी बातें……!

(1.) पार्टनर के मूड को परखें:

सेक्स के अच्छे अनुभव के लिए ये सबसे खास है कि आप जान लें कि आपका पार्टनर ‘मूड’ में है या नहीं। अगर आपके पार्टनर या आपका सेक्स का मूड नहीं है और आप सेक्स करते हैं, तो वो अनुभव ऐसा हो सकता है जैसे आपका इस्तेमाल हुआ है।

इसलिए बेहतर होगा कि पहले यह जान लिया जाये कि आपका पार्टनर संभोग के लिए राजी है भी या नहीं? पार्टनर की सेक्स-इच्छा को परखने के लिए लिए कुछ संकेत ये हो सकते हैं- आपका पार्टनर आपको छूता है या नजदीकी बढ़ाता है? हालांकि ये संकेत सिर्फ इसी बात के नहीं होते, इसलिए एक बार सुनिश्चित जरूर कर लें।

(2.) सुरक्षा और तैयारी:

सेक्स एक बहुत ही प्यारा और रोमांच भरा एहसास होता है। ये आपको तन से और मन से दोनों खुशी देता है। आपकी सेहत को भी सेक्स से बहुत लाभ पहुंचता है। जैसे कि इससे आपकी कैलोरी बर्न होती है और तनाव दूर होता है। लेकिन, सेक्स अगर सोच समझकर न किया जाए तो अनचाही प्रेगनेंसी, यौन रोग जैसी समस्याएं भी हो सकती हैं। इसलिए सेक्स के लिए तैयार रहना आपका सबसे अच्छा विकल्प है।

अपने पास एक कॉन्डम या कॉन्ट्रासेप्टिव पिल्स रखें। सेक्स दो लोगों को करीब लेकर आता है, इसलिए पहले से क्लियर रहें कि ये वन नाइट स्टैंड, रिलेशनशिप को आगे ले जाना या फिर कमिटेड रिलेशनशिप है। इसके बारे में अपने पार्टनर से साफ बात करें।

अपने पार्टनर से पूछें कि क्या उसके पास प्रॉटेक्शन है? उसे बताएं कि आप इस एक्ट को किस तरह से देखते हैं। याद रखें कॉन्डम एक बार इस्तेमाल करने के लिए बनाए जाते हैं, इसलिए इस बात का विशेष ध्यान रखें कि अगर आप एक से ज्यादा बार मैथुन करना चाहते हैं तो अपने पास कॉन्डम की मात्रा अधिक रखें।

Also read: कंडोम या नसबंदी ही नहीं, ये भी हैं Male Birth Control tips

(3.) स्थान चुनें और इच्छा जगायें:

सेक्स एक ऐसा प्यारा और आनंद भरा अनुभव होता, जो केवल एकांत में पाने के लिए होता है। इसलिए इसको करने के लिए ऐसे स्थान का चयन करें, जहां आप दोनों के अलावा और कोई न हो। विशेषतौर पर तब, जब आप पहली बार सेक्स कर रहे हों। कोई ऐसी जगह चुने जो प्राइवेट हो और जहां सेक्स करने के लिए आरामदायक जगह हो। नरम बिस्तर और हल्की रोशनी हमेशा संभोग के लिए आदर्श मानी जाती है।

(4.) जल्दबाजी दिखाएं:

अगर आप जबरन अपनी मर्जी अपने साथी पर थोपते हुए और शारीरिक जोर देते हुए सेक्स करने का प्रयास करते हैं, तो इससे आपके साथी का मूड ऑफ हो सकता है। इसलिए आप चाहें अंदर से कितने ही उतावले व उत्सुक क्यों न हों, आपको अपने पार्टनर के सामने खुद को यही दिखाना होगा कि आप सेक्स के लिए मरे नहीं जा रहे। आप तो अपने पार्टनर की रजामंदी से और धीरे-धीरे सेक्स की राह पर आगे बढ़ना चाहते हैं। अपने पार्टनर को उसकी भावना व्यक्त करने का पूरा मौका दें और उसकी भावना का सम्मान करें। सुहागरात में सेक्स चुनाव होना चाहिए, इसलिए उसे चुनने दें। अगर मुमकिन हो तो आप अपने पार्टनर से पूछ भी सकते हैं।

Also read: Sexologist in Lucknow – Gupt Rog Clinic

(5.) ‘किसकरें:

शारीरिक रूप से नजदीक आने का पहला पढ़ाव होता है किसिंग। अधिकतर स्त्रियों को किस करना पसंद होता है और अगर किस जोशीला हो तो वो उन्हें मूड में ला सकता है। किसिंग और टचिंग से आपका पार्टनर सेक्स के लिए उत्सुक भी होने लगता है, जिससे सेक्स और अच्छा होता है।

इससे एक-दूसरे से नजदीकी का एहसास होता है। साथ ही एक-दूसरे पर भरोसा करने का मन होता है, जिस कारण दोनों लोग बेड पर अच्छा परफॉर्म करते हैं।

(6.) फोरप्ले पर अधिक ध्यान दें:

अधिकतर लोगों का मानना है कि सेक्स का मतलब केवल वीर्य का स्खलन मात्र होता है। स्त्री-पुरूष मिले, फौरन एक-दूसरे में समाये और स्खलन क्रिया को अंजाम दे दिया और हो गया सेक्स। जोकि सही मायने में सेक्स का सही मूल नहीं है। सेक्स में फोरप्ले भी बहुत महत्वपूर्ण है। फोरप्ले वह है जो आप संभोग से पहले करते हैं। इसमें दुलारना, किस करना, अपने पार्टनर के प्राइवेट पार्ट को छूना और ओरल सेक्स होता है। ये सेक्स का सबसे मजेदार हिस्सा होता है, क्योंकि इसमें आप दोनों बहुत सारे एक्सपेरिमेंट कर सकते हैं।

  • पुरूषों के लिए टिप: स्त्रियां अधिक बार चरम तक पहुंच सकती है, इसलिए अपनी पार्टनर को प्लेजर दें, एक बार से अधिक।
  • स्त्रियों के लिए टिप: ज्यादातर पुरूषों को स्त्रियों द्वारा स्पर्श यानी टच किया जाना पसंद होता है, इसलिए उन्हें छुए, किस करें और उनकी पूरी बॉडी को फील करें।

Also read: सेक्स के लिए सही उम्र Right Age For Sex

(7.) सही समय का इंतजार करें:

पेनिट्रेटिव सेक्स के लिए सही वक्त क्या है ये आमतौर पर दोनों को मालूम चल जाता है। जब आपका पार्टनर सेक्स के दूसरे लेवल पर जाना चाहे, तभी आप आगे बढ़ें। कुछ मामलों में ये पूछा भी जा सकता है। जब आपको मालूम चले कि आपका पार्टनर तैयार है, तो ही आप दूसरे लेवल पर जाएं।

(8.) इन्सर्टेशन:

ये सेक्स का सबसे खास पार्ट माना जाता है। कुछ लोगों को तो सेक्स सिर्फ यही लगता है। इस स्टेप में पुरूष का पेनिस महिला के वेजाइना में डाला जाता है।
पुरूषों के लिए टिप: वेजाइना एक एलास्टिक ऑर्गन माना जाता है। अगर आप प्रॉटेक्टिव सेक्स कर रहे हैं, तो ध्यान रखें कि पेनिस को वेजाइना में डालने से पहले आपने कॉन्डम पहना हो। कई बार पुरूष गलत पोजिशन ले लेते हैं, जिससे महिला को परेशानी हो सकती है, इसलिए वेजाइना ढूंढने के लिए बिना शर्माए अपने पार्टनर से मदद लें।

(9.) लव मेकिंग:

  • पुरूषों के लिए टिप: प्रारिम्भक पेनिट्रेशन होने के बाद आप उस तरह से संभोग कर सकते हैं, जिसमें आप दोनों आरामदायक महसूस करें। अपने पार्टनर और अपने शरीर की सुनें। दोनों को प्लेजर मिलना चाहिए।
  • महिलाओं के लिए टिप: बेड में एक्टिव रहें। अपना मूव लें। थ्रस्टिंग में मजा आ सकता है, विशेषतौर पर तब, जब आप दोनों सिंक में और मिलकर करें। अपने पार्टनर को बताएं कि आपको क्या अच्छा लग रहा है क्या नहीं।

(10.) समाप्त करना:

यह परिस्थिति कुछ व्यक्तियों के लिए बहुत रोमांच भरी तो कुछ के लिए बहुत अजीब हो सकती है। इसलिए अपने पार्टनर को सरल और सहजता का अनुभव कराने का प्रयत्न करें। जैसे कि सेक्स के बाद अपने साथी को उसके कपड़े पहनने में मदद करें, यहां-वहां प्यार से छूकर व चूमकर फ्लर्ट करें और साथ उसे यह भी बतायें कि उसे सेक्स में या फिर सेक्स के बाद भी कितना अच्छा लगा और कितना मजा आया।

उसे पूरा भरोसा दिलायें कि आपको वाकई उनके साथ बिताया हर पल बहुत ही प्यारा लगा और आप हमेशा यही चाहते हैं कि आपका उनके साथ ऐसा ही प्यारा रिश्ता बना रहे। ये वक्त अच्छी दोस्ती या जिंदगीभर की पार्टनरशिप के लिए बहुत अच्छा होता है।

Also read: ये चीजें आपको बना सकती हैं नपुंसक
और हां, मैथुन क्रिया के बाद अपने-अपने प्राइवेट पार्ट को अच्छे से साफ करना न भूलें। आखिर में ध्यान रखें, कि आपने कॉन्डम को सही तरह से डिस्पोज किया है या नहीं। इसे कागज़ में लपेट कर डस्टबिन में डालें, न कि फ्लश करें। Tips for pleasant sex

 

सेक्स सम्बंधित किसी भी प्रकार की समस्या के समाधान व सलाह के लिए नीचे व्हाट्स-ऐप के बटन पर क्लिक करें |

स्त्री व पुरुष दोनो के गुप्त रोगों का इलाज किया जाता है :

पुरुष के रोग: नामर्दी, सुप्न्दोश, धात, वीर्य का पतलापन, लिंग का सही विकास ना होना, नसों का ढीलापन, लिंग से खून या पीप आना, शुक्राणु की कमी, शुगर से आई हुई कमजोरी, बचपन की गलतियो से आई कमजोरी, सेक्स टाइम में कमी आदि।

स्त्री के रोग: लुकोरिया, पीरियड का सही समय पर ना आना, गर्भवती ना होना, बच्चे का अधूरे गिरना, सेक्स की इच्छा ना होना आदि।

डी. एन. एस. आयुर्वेदा क्लिनिक, लखनऊ

9918584999, 9918536999

दवाई फोन पर घर बैठे भी मंगवा सकते हैं।

Sex clinic, Piles Clinic, Ayurvedic Clinic