सावधान……! अगर आप रात में जागते हैं तो

0
1,661 views

सावधान……! अगर आप रात में जागते हैं तो:

क्या आप ज्यादातर नाइट शिफ्ट में काम करते हैं? जरूरी नींद की कमी और रात में जागने से इंसान के डीएनए की संरचना को नुकसान पहुंच सकता है. इससे कई तरह की बीमारियां घर कर सकती हैं. नाइट शिफ्ट में काम करने से कैंसर, डायबिटीज, हृदय या दिल के रोग, सांस से जुड़ी समस्याएं और तंत्रिका तंत्र संबंधी बीमारियां हो सकती हैं.

Also read: अखरोट खाने के फ़ायदे

एनस्थेशिया एकेडमिक जर्नल में प्रकाशित शोध के मुताबिक, रात्रि में काम करने वालों में डीएनए मरम्मत करने वाला जीन अपनी गति से काम नहीं कर पाता और नींद की ज्यादा कमी होने पर यह स्थिति और बिगड़ती जाती है.

 

ज्यादा ‘नाइट शिफ्ट’ भी है खतरनाक, जानें क्या हैं नुकसान:

शोध में पाया गया है कि जो व्यक्ति रात भर काम करते हैं, उनमें डीएनए क्षय का खतरा रात में काम नहीं करने वालों के मुकाबले 30 फीसदी अधिक होता है.

वैसे लोग जो रात में काम करते हैं और पर्याप्त नींद नहीं ले पाते हैं, उनमें डीएनए क्षय का खतरा और 25 फीसदी बढ़ जाता है.

यूनिवर्सिटी ऑफ हांगकांग के रिसर्च एसोसिएट एस. डब्ल्यू. चोई ने कहा, “डीएनए खतरा का मतलब डीएनए की मूलभूत संरचना में बदलाव है. यानी डीएनए जब दोबारा बनता है, उसमें मरम्मत नहीं हो पाता है और यह क्षतिग्रस्त डीएनए होता है.”

Also read: बिना डाइटिंग किए वज़न कैसे घटायें

चोई ने कहा कि जब डीएनए में मरम्मत नहीं हो पाता तो यह खतरनाक स्थिति है और इससे कोशिका की क्षति हो जाती है. मरम्मत नहीं होने की स्थिति में डीएनए की एंड-ज्वाइनिंग नहीं पाती, जिससे ट्यूमर बनने का खतरा रहता है.

शोध में 28 से 33 साल के स्वस्थ डॉक्टरों का रक्त परीक्षण किया गया, जिन्होंने तीन दिन तक पर्याप्त नींद ली थी.

इसके बाद उन डॉक्टरों का रक्त परीक्षण किया गया, जिन्होंने रात्रि में काम किया था, जिन्हें नींद की कमी थी.

चोई ने कहा, “शोध में यह पाया गया है कि बाधित नींद डीएनए क्षय से जुड़ा हुआ है.”

 

 

 

 

(Disclaimer: This news is not from DNS Ayurveda. Original Source is Syndicate Feed )

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here