Gathiya treatment | गठिया रोग को दूर करने के लिए 3 आसान उपाय

0
353 views
Gathiya treatment, गठिया रोग को दूर करने के लिए 3 आसान उपाय

Gathiya treatment 3 ideas to treat | गठिया रोग को दूर करने के लिए 3 आसान उपाय :

दोस्तों गठिया एक ऐसी समस्या है जो की अधिक उम्र के लोगों में अधिक होती है। यह समस्या हड्डियों के जोडों में यूरिक एसिड के जमा होने से होती है। इससे जोड़ों में असहाय दर्द होने लगता है। इसे अंग्रेजी में आर्थराइटिस भी कहते हैं। जानकारों की मानें तो भारत देश में हर पांच में एक व्यक्ति गठिया रोग से पीड़ित है। Gathiya Treatment

Also read: Spirulina ke fayade | स्पिरुलिना के फायदे – Superfood Sirulina

इससे पहले यह बीमारी केवल बुजर्गों में देखी जाती थी, लेकिन अब कम उम्र के लोग भी इससे ग्रसित हो रहे हैं। इस बीमारी में मरीज को चलने में कठिनाई होती है क्योंकि जोड़ों में गांठें बन जाती है। इसका मुख्य कारण हड्डियों में कैल्सियम की कमी भी है। इसके कई प्रकार हैं, जिनमें मुख्य आस्टियो एक्यूट, रूमेटाइट और गाउट हैं। इस बीमारी का इलाज संभव है।

-आए जाने इस वीडियो मे गठिया के बारे मे-

डी.एन.एस. आयुर्वेदा क्लिनिक
गोलागंज, लखनऊ
9918584999, 9918536999

इसके साथ ही कई घरेलू चीज़ों के सेवन से गठिया रोग को दूर किया जा सकता है। आइए जानते हैं-

मेथी | Fenufgreek | Gathiya Treatment :

इसमें एंटीइंफ्लेमेटरी और एंटी आर्थराइटिक के गुण पाए जाते हैं। जबकि मेथी में सैचुरेटेड और अनसैचुरेटेड फैटी एसिड भी अधिक मात्रा में होते हैं। इसके सेवन से गठिया के दर्द में आराम मिलता है। इसके लिए 2 चम्मच मेथी को पानी में उबाल लें। जब पानी ठंडा हो जाए तो उस पानी को पिएं। आप चाहे तो इसे चाय की तरह भी दिन में कई बार पी सकते हैं। हालांकि, ध्यान रखें कि मेथी की तासीर गर्म होती है तो अपनी शारीरिक क्षमता अनुसार ही इसका सेवन करें।

धनिया | Coriander :

इसमें एंटीऑक्सिडेंट के गुण पाए जाते हैं जो गठिया रोग में फायदेमंद साबित होते हैं। इसके लिए एक चम्मच साबूत धनिया के पाउडर को गुनगुने गर्म पानी में मिलाकर सेवन करें। इसके सेवन से आपको गठिया रोग में आराम देखने को मिल सकता है।

Also read: Kidney stone treatment | केवल 1 हफ्ते में गला कर निकाल

आपका आहार | Your diet | Gathiya Treatment :

गठिया बीमारी से निजात पाने के लिए अपने डाइट में हरी सब्जियों और फलों को जोड़ें। दूध और दही का सेवन करें। आप चाहे तो सुबह और शाम दोनों वक्त दूध का सेवन कर सकते हैं। साथ ही चोकर युक्त आटे की रोटी खाएं। अंकुरित मूंग और चने खाएं।

Facebook Page: Click Here

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है, यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है, अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से ज़रूर परामर्श करें, डी.एन.एस.आयुर्वेदा इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here