World Kidney Day | कब और क्यों मनाया जाता है वर्ल्ड किडनी डे

World Kidney Day कब और क्यों मनाया जाता है वर्ल्ड किडनी डे

World Kidney Day | कब और क्यों मनाया जाता है वर्ल्ड किडनी डे

When World Kidney Day is celebrated and why?

वर्ल्ड किडनी डे हर साल 12 मार्च को दुनियाभर में धूम धाम से मनाया जाता है. हर साल विश्व किडनी दिवस की थीम निर्धारित की जाती है, हर साल की तरह से इस साल भी वर्ल्ड किडनी डे की थीम किडनी हेल्थ फॉर एवरीवन एवरीवेयर रखी गई है. जिसका अर्थ होगा है ‘हर कहीं हर किसी के लिए किडनी स्वास्थ्य या इसको इस तरह से भी कह सकते हैं कि ‘रोकथाम से लेकर जांच और देखभाल तक समान पहुंच, World Kidney Day | कब और क्यों मनाया जाता है वर्ल्ड किडनी डे

Also read : Wuhan Coronavirus updates | बढ़ रहा कोरोना वाइरस का कहर: ज़रूरी

भारत में हर साल दो लाख लोगों को किडनी रोग हो जाता है, शुरुआती स्टेज में इस बीमारी को पकड़ पाना काफ़ी मुश्किल होता है, क्योंकि दोनों किडनी 60% खराब होने के बाद ही रोगी को इसका पता चलता है, यदि आप यह जानना चाहते हैं कि वर्ल्ड किडनी डे की शुरुआत कैसे हुई और कब हुई तो यहां हम बताएंगे,

विश्व किडनी दिवस क्यों मनाया जाता है? | Why World kidney day is celebrated? :

दुनियाभर में किडनी की बीमारी से प्रभावित लोगों की संख्या लगातार बढ़ने से इस बीमारी से निवारण और लोगों में जागरूकता फैलाने के लिए मार्च के दूसरे गुरुवार को ‘वर्ल्‍ड किडनी डे’ मनाया जाता है. गुर्दा या किडनी रोग को नजरअंदाज करना खतरनाक साबित होता है.

Also read:  Ayurvedic treatment for piles in hindi

किडनी रोगों से बचाव के लिए नियमित जांच और जीवनशैली जरूरी है, लेकिन जागरूकता जरूरी है, किडनी की बीमारी के शुरूआती लक्षणों में लगातार उल्टी आना, भूख नहीं लगना, थकान और कमज़ोरी महसूस होना, पेशाब की मात्रा कम होना, खुज़ली की समस्या होना, नींद नहीं आना और मांसपेशियों में खिंचाव होना ये प्रमुख हैं,

विश्व किडनी दिवस की शुरुआत कब हुई? | When World Kidney Day Started ?

वर्ल्ड किडनी डे की शुरुआत साल 2006 में हुई थी, जिसका उद्देश्य लोगों को किडनी से जुड़ी समस्याओं और उपचार के विषय में जागरूक करना है, भारत में किडनी रोगों के मरीजों की संख्या लगातार बढ़ रही है, किडनी रोगों से लोगों की जान तक चली जाती हैं ऐसे में इससे लड़ने के लिए विश्व गुर्दा दिवस के दिन लोगों को जागरुक किया जाता है,

Facebook Page : Click here

 

About the author

Leave Your Comment

Theme Settings

Please implement FLYTHEME_Options_pages_select::getCpanelHtml()

Please implement FLYTHEME_Options_editor::getCpanelHtml()